4G Electric Meter: धड़ल्ले से लग रहे नये इलेक्ट्रिक मीटर, स्मार्टफोन की तरह होंगे रीचार्ज ,जानिए डिटेल

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में इसकी शुरुआत 1 जुलाई से की जा चुकी है।   

कनेक्शन और बिजली चोरी की बढ़ती संख्या को कम करने के लिए यह फैसला लिया गया है।   

आपको बता दें कि 4जी बिजली का मीटर सामान्य बिजली मीटर से काफी अलग होगा और बिल नहीं आएगा |

दरअसल आपको इसे रिचार्ज करना होगा और फिर बिजली आपके घर आ जाएगी। 

उन्हें भी अपडेट कर नई तकनीक के आधार पर स्मार्ट मीटर बनाया जाएगा। जिन घरों में पुरानी तकनीक के बिजली मीटर लगे हैं |

प्रदेश भर में 12 लाख ऐसे मीटर लगाए गए हैं जो पुरानी तकनीक पर काम कर रहे हैं।  

4G प्रीपेड मीटर के काम करने की बात करें तो आपको इसे उसी तरह से रिचार्ज करना होगा |

यह रिचार्ज एक निश्चित अवधि के लिए वैध होगा और आपको निश्चित यूनिट देगा |ऐसे में आपको बिजली बिल की टेंशन लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी।  

जैसे ही 4जी प्रीपेड मीटर प्लान की समय सीमा समाप्त हो जाती है, आपको इसे फिर से रिचार्ज करना होगा।