पुरुष अनिच्छा से भी महिलाओं के इन गुणों के आगे झुकते हैं, क्या आप भी इन गुणों से सभर है 

चाणक्य कहते हैं कि एक महिला जीवन में एक साथ कई भूमिकाएं निभाती है। 

महिलाएं साहस और बहादुरी में पुरुषों से आगे निकल जाती हैं। और हर चुनौती का डटकर सामना करें।   

विवेक आचार्य चाणक्य का कहना है कि महिलाएं पुरुषों से ज्यादा बुद्धिमान होती हैं। किसी भी मामले में सोच-समझकर ही निर्णय लेती है 

वहीं पुरुष उत्तेजना में अपने होश खो बैठते हैं और कोई भी निर्णय लेकर अपना ही नुकसान करते हैं 

करुणा और सहृदयता आचार्य चाणक्य का कहना है कि करुणा और भावना के मामले में भी महिलाएं  पुरुषों से काफी आगे हैं। महिलाओं में करुणा की भावना होती है।   

किसी को देखकर तुरंत भावुक हो जाते हैं। लेकिन इसे महिलाओं की कमजोरी नहीं समझना चाहिए। 

भूख चाणक्य का कहना है कि पुरुषों की तुलना में महिलाएं अधिक भूखी होती हैं।  इसके पीछे उनकी शारीरिक बनावट है। 

उन्हें अधिक पोषण की आवश्यकता होती है।  इसलिए महिलाओं को हमेशा पर्याप्त और पौष्टिक भोजन करना चाहिए।  

भूख लगने के बावजूद महिलाएं लंबे समय तक भूखी रहती हैं।