यह 1 दोष आपके 100 गुणों को रोक देगा, सफल होने के लिए घर-घर  भटकते रहेंगे आप !

सफल होने के लिए बातों का रखें    ध्यान  आचार्य चाणक्य कहते हैं कि वह व्यक्ति बुद्धिमान और सफल होता है, जो इस प्रश्न का उत्तर हमेशा जानता है।  

एक बुद्धिमान व्यक्ति जानता है कि वर्तमान समय कैसा चल रहा है और चाहे सुख या दुःख के दिन हों, वह उसी के अनुसार कार्य करता है।  

हमें पता होना चाहिए कि हमारे असली दोस्त कौन हैं और दोस्तों की आड़ में हमारे दुश्मन कौन हैं।  

दोस्तों के वेश में छिपे दुश्मन को पहचानना बहुत जरूरी है, दोस्तों में  

छिपे दुश्मन को नहीं पहचान पाए तो आप अपने काम में असफल हो जाएंगे।    

यह देश कैसा है, यानी वे स्थान, शहर और परिस्थितियाँ जहाँ हम काम करते हैं?  लोग कार्यस्थल में कैसे काम करते हैं?  

अगर आप इन बातों को ध्यान में रखकर काम करेंगे तो असफलता की संभावना बहुत कम होगी। 

यदि वह एक विवेकपूर्ण व्यक्ति है, तो वह अपनी आय और व्यय का सही रिकॉर्ड रखता है। 

व्यक्ति को अपनी आय के अनुसार खर्च करना चाहिए।  यदि आप अपनी कमाई से कम खर्च करते हैं, तो धन धीरे-धीरे जमा हो सकता है। 

हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हमारा मैनेजर, कंपनी, संगठन या बॉस हमसे क्या चाहता है।  

हमें इस तरह से काम करना चाहिए जिससे संगठन को फायदा हो और अगर संगठन को फायदा हो तो कर्मचारी को भी फायदा होने की संभावना है। 

यह आखिरी चीज सबसे महत्वपूर्ण है, हमें पता होना चाहिए कि हम क्या कर सकते हैं। 

जिस काम को पूरा करने की ताकत हमारे पास है, उसे हमें हाथ में लेना चाहिए और अगर हमारे पास शक्ति से ज्यादा काम है तो वह असफल होना तय है।