जब तक आपका सही समय न आए तब तक शांत रहें

कभी नहीं डरो जब बुरा समय आता है तो आप डर जाते हैं, घबराने लगते हैं।  जब आपको शांत और स्थिर दिमाग से समस्या का समाधान खोजना चाहिए।   

क्योंकि समस्या का कारण जाने बिना आप उसका समाधान नहीं खोज सकते। 

बुरे विचारों निकाल दें  जिंदगी बहुत कुछ सिखाती है।  वास्तव में यही दुख जीवन का सत्य है।  संघर्ष करना सिखाती है, आगे बढ़ना सिखाती है 

इसलिए धैर्य और आत्मविश्वास से काम लें।  सफलता कुछ ही कदम दूर है। 

फीडबैक पर ध्यान दें  आचार्य चाणक्य बताते हैं कि स्थिति और परिणाम पर किसी का नियंत्रण नहीं होता है, लेकिन  

आप स्थिति पर कैसे प्रतिक्रिया करते हैं यह आपके व्यक्तित्व को दर्शाता है।   

सबसे खराब स्थिति में, यदि आप अपने आप को नियंत्रित करके प्रतिक्रिया करते हैं, तो कोई भी आपको सफल नहीं कर सकता है। 

बुरे समय में भी अवसरों की तलाश करें   आचार्य चाणक्य कहते हैं कि अच्छा और बुरा समय एक ही सिक्के के दो पहलू  हैं, इसलिए बुरे समय में भी जीवन को बेहतर बनाने के कारण खोजें।   

बुरे समय से निराश न हों और लगातार उन परिस्थितियों से निकलने की कोशिश करें। 

सही जानकारी प्राप्त करें  जीवन में कई बार हम बिना उचित ज्ञान और अनुभव के जीवन के युद्धक्षेत्र में प्रवेश कर जाते हैं।  

आचार्य चाणक्य का कहना है कि किसी भी युद्ध के मैदान में प्रवेश करने से पहले  

युद्ध की रणनीति का पूरा ज्ञान होना चाहिए अन्यथा दुश्मन का एक हमला काफी होगा।