चाणक्य नीति, जीवन की दुश्मन बन सकती हैं ये स्थितियां!रहे  सावधान रहें।

बदला  चाणक्य नीति का कहना है कि अगर आपका दुश्मन आप पर हमला करता है, तो उससे लड़ने से भागना बेहतर है,  

क्योंकि वह एक रणनीति लेकर आया होगा और आप बिना रणनीति के उसका सामना नहीं कर पाएंगे। 

अगर जान बच जाती है, तो आप उससे फिर से लड़ सकते हैं। 

हिंसा आचार्य चाणक्य ने बताया है कि यदि हिंसा भड़कती है, दंगे होते हैं, तो तुरंत उस स्थान से भाग जाना चाहिए।  

अक्सर उपद्रव में भीड़ बेकाबू हो जाती है और कभी भी हमला कर सकती है।  ऐसे में जान बचाकर वहां से भाग जाना ही समझदारी है। 

अर्थव्यवस्था चाणक्य नीति के अनुसार, जहां अर्थव्यवस्था खराब हुई है, उस जगह को छोड़ देना बेहतर है,  

लोग खाने-पीने और रहने के संसाधनों के लिए तरस रहे हैं। 

ऐसा इसलिए क्योंकि लंबे समय तक ऐसी जगह पर रहने से आपको और आपका भी नुकसान हो सकता है 

आचार्य चाणक्य के अनुसार अगर कोई अपराधी आपके पास आए या आपसे मदद मांगे तो आपको तुरंत उस जगह से हट जाना चाहिए।  

क्योंकि इससे आपके मान सम्मान पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है और छवि भी खराब हो सकती है।