चरित्रहीन महिला की पहचान करने के ये हैं आसान उपाय, खुद आजमाएंगे तो विश्वास हो जायेगा 

आचार्य चाणक्य ने अपनी पुस्तक चाणक्य नीति में चरित्रहीन महिलाओं के बारे में ऐसी कई बातें बताई हैं।  

जो लोग उन बातों को सोचते और उनका पालन करते हैं, उनके जीवन में कभी भी दु:ख और छल आदि की भावना नहीं आती है 

चाणक्य ने महिलाओं के बारे में कुछ ऐसी बातें बताई हैं, जिन्हें जानकर आप किसी चरित्रहीन महिला के प्यार में नहीं पड़ेंगे।

चरित्रहीन महिला की पहचान कुछ महिलाएं ऐसी भी होती हैं जिनका आचरण परिवार (परिवार) के विनाश के कारण होता है। 

वहीं महिलाओं को सामाजिक भाषा में अशुभ या कुलाक्षनी कहा जाता है। 

ऐसी महिलाओं की पहचान तब तक संभव नहीं है, जब तक कि वे अच्छी तरह से जानी-पहचानी न हों।  

महिलाएं अपने परिवार की इज्जत बचाने का काम करती हैं।  अपने नैतिक और सामाजिक आचरण को पवित्र रखता है। 

चाणक्य ने बताया है कि नारी जाति अत्यंत पूजनीय जाति है।  आचार्य चाणक्य ने अपनी पुस्तक में स्त्री को देवी का दर्जा दिया है। 

लेकिन कुछ महिलाएं ऐसी भी होती हैं जो अपने बुरे चरित्र और चरित्र के कारण उनसे जुड़े लोगों के जीवन पर गलत प्रभाव डालती हैं।