मोबाइल पर छोटी-छोटी वीडियो क्लिप देखने की आदत से नींद पर पड़ता है बुरा असर, रिसर्च में किया गया ये दावा

अक्सर लोग रात में अच्छी नींद लेने के लिए तरह-तरह के तरीके अपनाते हैं। 

आजकल ज्यादातर लोग रात को नींद नहीं आने पर टीवी और स्मार्टफोन पर अपनी पसंद की फिल्में या कार्यक्रम देखना शुरू कर देते हैं।

रात में मोबाइल या टीवी पर ऐसे छोटे-छोटे वीडियो देखने से सेहत पर इसके असर को लेकर एक शोध सामने आया है। 

जिसमें दावा किया गया है कि जब हम रात को नहीं सोते हैं तो  

मोबाइल पर छोटे-छोटे वीडियो देखने से हमारी सेहत पर बुरा असर पड़ता है।

रिसर्च में आया ये निष्कर्ष  शोधकर्ताओं का दावा है कि रात में वीडियो क्लिप देखना भी युवाओं में देर से सोने का एक कारण हो सकता है।   

आपको बता दें कि इस विषय पर निष्कर्ष गुरुवार को जर्नल ऑफ स्लीप मेडिसिन में प्रकाशित हुए थे।   

ऑस्ट्रेलिया की फ्लिंडर्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने बताया कि इस शोध  में 12 से 18 साल के 700 से ज्यादा बच्चों को शामिल किया गया

रिसर्च के दौरान इन बच्चों ने कम से कम आधा घंटा मोबाइल पर बिताया, जिसमें वे 13 मिनट देरी से सोए। 

शोध से पता चला है कि यह पर्याप्त नींद लेने की संभावना को भी कम करता है।  

वहीं, जो बच्चे रात को सोने से पहले टीवी या मोबाइल का इस्तेमाल नहीं करते थे, वे सभी नौ मिनट में बिस्तर पर गिरते ही सो गए.   

वहीं, रिसर्च में यह भी सामने आया कि इस तरह के शॉर्ट वीडियो लंबे समय तक स्क्रीन को ऑन रखने में मददगार होते हैं। 

जिससे रात में नींद खराब होती रहती है।