युवाओं को भी हो सकता है जोड़ों का दर्द, जानिए इससे बचने के उपाय 

जोड़ों के दर्द के कारण आनुवंशिक कारण।  चोट के कारण दर्द।   मांसपेशी में कमज़ोरी।  

- ऑटोइम्यून विकार। - शरीर में कैल्शियम की कमी होना। -मोटापा 

जोड़ों के दर्द को कैसे पहचाने?   इस रोग में शरीर के जोड़ों में तेज दर्द होता है।   सर्दी के मौसम में यह दर्द और बढ़ जाता है।  

कई बार इतना दर्द होता है कि चलना भी मुश्किल हो जाता है।   सीढ़ियों से ऊपर और नीचे जाने पर जोड़ों का दर्द बढ़ जाता है।   थकान और टूटा हुआ शरीर महसूस होता है। 

जोड़ों के दर्द से कैसे बचें?   अगर आप पिछले कई सालों से जोड़ों के दर्द से पीड़ित हैं तो डॉक्टर से सलाह लें और राहत पाएं। 

बहुत ठंडे पानी से नहाने से बचें क्योंकि ठंडा पानी जोड़ों के दर्द को बढ़ा सकता है

बहुत ठंडी हवा चल रही है, घर से बाहर न निकलें और खिड़कियां और दरवाजे बंद कर लें।

सर्दियों में नहाने के लिए गर्म पानी का प्रयोग करें, क्योंकि इससे जोड़ों के दर्द का खतरा कम हो जाता है।  

अपने आप को धूप के लिए उजागर करते रहें और शरीर में तेल की मालिश करने का प्रयास करें।  

अपने दैनिक आहार में कैल्शियम, विटामिन डी और विटामिन बी12 से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करें  

शरीर को गर्म रखें, इसे ठंडा न होने दें वरना दर्द बढ़ सकता है।