रक्षा बंधन 2022: रक्षा बंधन कब है, भद्रकाल में राखी बांधने का कौन सा शुभ मुहूर्त और क्या है पूजा की विधि 

हिन्दू पंचांग के अनुसार हर साल श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि को रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाता है। 

 इस त्योहार को श्रावणी पूर्णिमा और राखी के नाम से भी जाना जाता है।   रक्षाबंधन भाइयों और बहनों के बीच प्यार, स्नेह और स्नेह का प्रतीक है।   

यह हिंदुओं का सबसे बड़ा त्योहार है।  इस बार रक्षा बंधन 11 अगस्त गुरुवार को मनाया जा रहा है।   

सावन पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त को सुबह 10.38 बजे से शुरू हो रही है, जो अगले दिन यानी 12 अगस्त को सुबह 07.05 बजे तक चलेगी. 

बहन और भाई साल भर रक्षा बंधन का इंतजार करते हैं।  आइए जानते हैं  |

रक्षाबंधन के दिन भाई की कलाई पर रक्षासूत्र कैसे बांधें, आइए जानते हैं रक्षाबंधन पूजा का तरीका।  

रक्षाबंधन के दिन सबसे पहले स्नान कर भगवान की पूजा करें और अपने देवता को रक्षासूत्र बांधें।  

पूजा की थाली में रोल, अक्षत, कुमकुम, रंग-बिरंगी राखी, दीये और मिठाई रखें.  

शुभ मुहूर्त को ध्यान में रखते हुए बहनें भाइयों के माथे पर चंदन, रोली और अक्षत से तिलक करती हैं।