भारत में चीनी मोबाइल पर प्रतिबंध: रु.  12 हजार से कम कीमत के चाइनीज स्मार्टफोन होंगे बैन! 

भारत सरकार चीनी स्मार्टफोन निर्माताओं को 12,000 रुपये से अधिक के सस्ते डिवाइस बेचने पर प्रतिबंध लगाना चाहती है। 

अपने घरेलू उद्योग को बढ़ावा देने के लिए माना जाने वाला यह प्लान Xiaomi,  Vivo, Oppo समेत अन्य ब्रांड्स के लिए बड़ा झटका साबित हो सकता है।  

 मामले से परिचित लोगों के अनुसार, इस कदम का उद्देश्य दुनिया के दूसरे  सबसे बड़े मोबाइल बाजार के बजट खंड से चीनी दिग्गज को बाहर करना है।   

इन सूत्रों का कहना है कि यह Realme और Transsion जैसे उच्च-मात्रा वाले ब्रांडों के बारे में बढ़ती चिंता का परिणाम है।    

ब्लूमबर्ग के मुताबिक, 12,000 रुपये से कम कीमत वाले चीनी स्मार्टफोन्स को भारत में बैन किया जा सकता है।  

भारत के एंट्री-लेवल मार्केट के बहिष्कार से Xiaomi और उसके साथियों को  नुकसान होगा, जो हाल के वर्षों में पैसा बनाने के लिए भारत में तेजी से  बढ़े हैं |

मार्केट ट्रैकर काउंटरपॉइंट के अनुसार, जून 2022 की तिमाही में 12,000 से  कम कीमत वाले स्मार्टफोन ने भारत में कुल बिक्री का एक तिहाई योगदान दिया,  जिसमें चीनी कंपनियों की हिस्सेदारी 80 प्रतिशत थी। 

सरकार ने पहले ही देश में काम कर रही चीनी कंपनियों, जैसे कि Xiaomi, Oppo, Vivo आदि को उनकी वित्तीय जांच के दायरे में रखा है|

जिसके कारण कर चोरी या मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप लगे हैं।  सरकार ने पहले  हुआवेई और जेडटीई दूरसंचार उपकरणों पर प्रतिबंध लगाने के लिए अनौपचारिक  साधनों का इस्तेमाल किया था।