रुपया अब तक के सबसे निचले स्तर पर,डॉलर 20 साल के उच्चतम स्तर पर

डॉलर के मुकाबले रुपया गुरुवार को अपने सर्वकालिक निचले स्तर को छू गया। 

गुरुवार को रुपया 80.27 पर खुला और शुरुआती रुझान में यह 80.47 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया. 

वहीं डॉलर 20 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है।  आपको बता दें, बुधवार को एक डॉलर की कीमत 79.98 रुपये थी। 

डॉलर के मुकाबले रुपये के मूल्य में गिरावट का एक प्रमुख कारण यूएस फेड द्वारा ब्याज दरों में वृद्धि है। 

बुधवार को यूएस फेड ने महंगाई पर काबू पाने के लिए ब्याज दर में 0.75 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की थी।   

इससे पहले जुलाई में भी यूएस फेड ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी की थी।  आपको बता दें,  

रुपये की स्थिति को मजबूत करने के लिए केंद्रीय बैंक ने जुलाई में 19 अरब डॉलर के भंडार की बिक्री की थी. 

लेकिन स्थिति बहुत बेहतर नहीं हुई है। एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर रॉयटर्स समाचार एजेंसी को बताया। 

अधिकारी के मुताबिक, ''यह भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए काफी मददगार साबित होगा.  इससे आयात कम होगा और निर्यात बढ़ेगा

हालांकि, वित्त मंत्रालय ने इस पूरे मामले पर अभी कोई टिप्पणी नहीं की है। 

इस बीच, छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने  वाला डॉलर सूचकांक 0.88 प्रतिशत बढ़कर 111.61 पर पहुंच गया।  

वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा 0.49 प्रतिशत बढ़कर 90.27 डॉलर प्रति बैरल पर था। 

अस्थायी शेयर बाजार के आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को शुद्ध रूप से 461.04 करोड़ रुपये के शेयर बेचे।