आपके किचन में ही है दांतों की सड़न को दूर करने का इलाज,ये सस्ते और घरेलू नुस्खे अपनाएं  

अगर समय रहते दांतों की सड़न का इलाज नहीं किया गया तो यह पूरे दांत को अंदर से खोखला कर सकता है।  

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि अगर इस समस्या में सामान्य टूथपेस्ट की  जगह लौंग के तेल का इस्तेमाल किया जाए तो 

दांतों की सड़न की समस्या खत्म  हो जाएगी।  इसके लिए आपको लौंग के तेल को रुई की मदद से दांतों में लगाना है।

आपको बता दें कि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और  एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो दांतों की सड़न को कम करते हैं। 

प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के साथ-साथ लहसुन में कैविटी रोधी प्रभाव भी होता है। 

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना ​​है कि लहसुन के छोटे-छोटे टुकड़े दांतों की कैविटी में रखने से आराम मिलता है। 

दांतों की कैविटी को दूर करने में भी अमरूद की पत्तियां काफी असरदार होती हैं।  इनका उपयोग माउथवॉश के रूप में किया जा सकता है।   

अमरूद के पत्तों से माउथवॉश बनाने के लिए आपको बस पत्तियों को धोकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लेना है, 

फिर उन्हें पानी में उबालना है और इस पानी का इस्तेमाल रोजाना अपने मुंह को कुल्ला करने के लिए करना है।  

ऐसा करने से आपको दांत दर्द से राहत मिलेगी और कैविटी ठीक होने लगेगी।