नेपाल के बाद यूके पहुंची भारत की UPI पेमेंट सर्विस, यहां जानिए पूरी जानकारी

भारत का UPI देश में भुगतान का पसंदीदा तरीका  बन गया है।  इसने पिछले महीने 6 बिलियन लेनदेन का आंकड़ा पार करते हुए नए रिकॉर्ड बनाया 

सेवा ने देश की सीमा को पड़ोसी नेपाल में पार किया, जहां भुगतान प्रणाली को अपनाने का काम चल रहा है।  

अब एक नई खबर के मुताबिक इस सर्विस के विस्तार से UPI यूजर्स यूके में भी ट्रांजैक्शन कर सकेंगे। 

NCPI की एक सहायक संस्था, जो यूपीआई सेवा का संचालन करती है, ने यूके में यूपीआई  भुगतान लाने के लिए

यूके स्थित भुगतान समाधान प्रदाता PayXpert  के साथ  भागीदारी की है। 

इस साझेदारी के साथ, भारतीय भुगतान सेवा PayXpert यूके में सभी Android पॉइंट-ऑफ-सेल (POS) उपकरणों पर काम करेगी 

UPI आधारित QR कोड भुगतान पहले इन-स्टोर भुगतान के लिए सक्षम होंगे और फिर RuPay कार्ड से भुगतान भी संभव है। 

वर्तमान में, UPI का उपयोग भारत में व्यक्ति-से-व्यक्ति (P2P) और व्यक्ति-से-व्यवसाय (P2M) लेनदेन के लिए किया जाता है।   

NCPI का दावा है कि 2021 में यूपीआई के माध्यम से 39 अरब लेन-देन हुए, जिसमें  940 अरब डॉलर की मात्रा थी।  यह भारत के सकल घरेलू उत्पाद के 31 प्रतिशत के  बराबर है। 

यूके में यूपीआई सेवा के आने से भारतीय छात्रों के लिए यहां भुगतान करना आसान हो जाएगा। 

हर साल 5 लाख से अधिक भारतीय नागरिक यूके की यात्रा करते हैं, इस नई साझेदारी से भारतीय पर्यटकों के लिए भुगतान करना आसान हो जाएगा।